हिन्दी में लिॆखे बहुत दिन हो गए। अपने अंग्रेजी के चिट्ठे बीटा थॉट्स को उसकी नई होस्टिंग गिटहब मुफ्त वाली पर डालने के बाद सोचा की मिर्ची सेठ को भी बदला जाए। बात यह है कि अभी तक चिट्ठा बनाने के दो तरीके थे या तो wordpress.com या फिर blogspot.com जैसे वेबसाइट पर चिट्ठा बनाया जाए या फिर अपनी होस्टिंग ले कर उस पर वर्डप्रैस लगा कर बनाया जाए। पहला तरीका ज्यादा प्रसिद्ध है क्यूंकि एक तो मुफ्त में है दूसरा कुछ ज्यादा तकनीकी पंगे भी नहीं लेने पड़ते। अपनी होस्टिंग और वर्डप्रैस वाला तरीका कॉफी बढ़िया है लेकिन उसके लिए कुछ तकनीकी ज्ञान होना जरुरी है व होस्टिंग के पैसे भी लगते हैं।

पिछले कुछ दिनों पहले गिटहब पर होस्टिंग का पता चला। यहाँ आप गिटहब को एक html व javascript के ऑनलाइन संग्रह की तरह प्रयोग करते हो। इसे आप सामान्य होस्टिंग ही समझें। लेकिन आप केवल html, javascript ही चला सकते हैं php नहीं। यानि की गिटहब पर वर्डप्रैस नहीं चलाया जा सकता। तो आप अब चिट्ठा कैसे लिखेंगे। इस काम के लिए markdown नाम का फॉरमेट काम में आता है। पहले आप किसी भी एडिटर में markdown में अपनी पोस्ट लिखते हो। फिर इस सामान्य टेक्सट जैसे markdown को सुंदर चिट्ठे में बदलने के लिेए ह्यूगो को प्रयोग करते हैं। यह सारा जुगाड़ काफी तकनीकी है। इसलिए अगर आप चिट्टा ही लिखना चाहते हैं व आपके मेरी तरह तकनीकी खुजली नहीं है तो आप wordpress या blogspot का ही प्रयोग करें।

markdown में लिखा चिट्ठा कैसे दिखता है के लिए नीचे दी गई छवि देखें

markdown