आज ऑफिस में बैठे थे कि साथ वाले क्यूब से आवाज आई “Pankaj, do you know Jolly’s last name”। सहकर्मी स्कॉट प्रश्न पुछ रहे थे और जवाब जोकि ये था की जोली जी नाम खन्ना है। लेकिन मुझे “खन्ना” ना कहते हुए “खाना” कहना पड़ा। पता नहीं यहाँ के लोगों को आ का डंडा जोड़ने की आदत है अच्छा खासा पंकज पंकाज, और गौरव गौउराव हो जाता है। प्रबद्ध जनों ने काका हाथरसी की “आ का डंडा” पढ़ी होगी। बड़ी मस्त है। क्या “सुर का सुरा और वैश्य का वैश्या” बनाया है।